Circuit Breaker in Stock Exchange

circuit breaker in stock exchange
circuit breaker in stock exchange
circuit breaker in stock exchange

जानिये क्या है circuit breaker in stock exchange of India

Circuit Breaker क्या है और कब लगाया जाता है?

किसी भी बाजार में सिर्फ बिक्री या फिर सिर्फ खरीद होना अच्छे संकेत नहीं होते !

खरीद और बिक्री के बीच परस्पर संतुलन से ही बाजार तरक्की करता है और बाजार की तरक्की मतलब इससे जुड़े हुए लोगो फायदा !

इसलिए अगर कभी एक निश्चित सीमा से ऊपर या निचे बाजार में खरीद या बिक्री होने लगे तो ये बाजार के लिए सही नहीं होता और इससे बचने के लिए बाजार को बंद कर दिया जाता है जिसे Circuit Breaker कहा जाता है!

कब लगता है Circuit Breaker in Stock Exchange

Circuit breaker 2 प्रकार के होते है

  • 1) Upper Circuit और
  • 2) lower Circuit ब्रेकर

Upper Circuit breaker जब लगाया जाता है जब बाजार में एक सीमा से ज्यादा ऊपर बाजार में उछाल आ जाये

lower Circuit breaker जब लगाया जाता है जब बाजार एक निश्चित सीमा से निचे गिर जाये !

बाजार में ज्यादा उछाल या ज्यादा गिरावट को रोकने के लिए निम्नलिखित प्रकार से बाजार में सर्किट ब्रेकर लगाया जाता है और बाजार को बंद कर दिया जाता है!

Trigger LimitTrigger TimeMarket halt duration Pre-open call auction session post market halt
10% Before 1:00 pm. 45 Minutes 15 Minutes
At or after 1:00 pm upto 2.30 pm15 Minutes
15 Minutes
At or after 2.30 pm  No halt Not applicable
15% Before 1 pm 1 hour 45 minutes 15 Minutes
At or after 1:00 pm before 2:00 pm 45 Minutes
15 Minutes
On or after 2:00 pm
Remainder of the day Not applicable


20%

Any time during market hours Remainder of the day Not applicable

Source:- NSE Circuit Breakers

जानिए कब हुई भारत के Stock Exchange में Circuit Breaker की शुरुआत

भारत में stock exchange में Circuit Breaker की शुरुआत SEBI (Securities and Exchange Board of India ) अर्थात भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड के द्वारा 28 जून वर्ष 2001 को की गई थी !

Circuit Breaker का कितनी बार उपयोग किया गया है

  • पहली बार स्टॉक एक्सचेंज में सर्किट ब्रेकर 17 मई 2004 को लगाया गया
  • दूसरी बार सर्किट ब्रेकर का इस्तेमाल 22 मई 2006 को हुआ और लोअर सर्किट ब्रेकर लगाया गया
  • तीसरी बार सर्किट ब्रेकर का इस्तेमाल 17 अक्टूबर 2007 को हुआ
  • चौथी बार सर्किट ब्रेकर का इस्तेमाल 22 जनवरी 2008 को हुआ
  • वर्ष 2008 के 12 साल बाद वर्ष 2020 मे अब दुबारा सर्किट ब्रेकर का उपयोग किया गया!

पुरे विश्व में कोरोना वायरस की वजह से फैले Economic Disbalance के कारण Market में पड़ने वाले नकारात्मक असर को कम करने के लिए SEBI द्वारा सर्किट ब्रेकर का उपयोग किया गया !

Read also:- कोरोना वायरस

You may also like :- Sir Creek सीमा विवाद

Share this

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *