सूरजकुंड मेले की जानकारी

सूरजकुंड मेले की जानकारी

क्यों और कब लगता हैं सूरजकुंड मेला

सूरजकुंड मेला (Surajkund) हर साल 1 फरवरी से 17 फरवरी के मध्य हरियाणा प्रदेश के फरीदाबाद जिले में आयोजित किया जाता है!

सूरजकुंड (Surajkund) मेले का आयोजन हस्तशिल्प और हथकरघा को बढ़ावा देने के लिए तथा कारीगरों को उनके काम को प्रदर्शित करने के उदेश्य से उचित मंच प्रदान करने के लिए किया जाता है!

(Surajkund) सूरजकुंड मेला भारत वर्ष के विभिन्न राज्यों और विदेशो से आये हुए सैलानियों को हरियाणा के परंपरागत माहौल से अवगत करता है!

Surajkund Festival भारत वर्ष की हस्तशिप और हथकरघा की कला को विदेशो में निर्यात को भी बढ़ावा देता है!

History of Surajkund (सूरजकुंड मेले का इतिहास)

  • सूरजकुंड मेले की जानकारी

सूरजकुंड मेले का प्रथम बार आयोजन सन 1987 में हुआ था और इसकी शुरुआत हरियाणा के मुख़्यमंत्री रहे चौधरी बंसी लाल के समय हुई थी! तभी से प्रत्येक वर्ष सूरजकुंड मेले का आयोजन किया जाता है!

विश्व भर से शिल्पकार सूरजकुंड मेले में भाग लेने के लिए हर वर्ष हरियाणा प्रदेश के फरीदाबाद जिले में आते हैं!

सूरजकुंड मेला हरियाणा के हस्तशिल्प और हथकरघा कारीगरों को उनकी परंपरागत कला को प्रदर्शित करने तथा उनके काम को उचित मंच और पहचान देने का काम करता हैं!

आज के मशीनी युग मे हाथ से कढ़ाई-बुनाई और विभिन्न प्रकार के काम करने वाले कारीगरों को उनके काम के लिए उचित बाज़ार और ग्राहक भी प्रदान करने का काम सूरजकुंड मेला करता हैं

read also:- हरियाणा प्रदेश के प्रमुख नृत्य

सहभागी राज्य (Theme State) और सहभागी देश (Theme country)

  • सूरजकुंड मेले की जानकारी

सन 1989 में पहली बार सहभागी राज्य (Theme State) को आमंत्रित करने का प्रचलन शुरू हुआ!

सूरजकुंड मेले के आयोजन में पहला सहभागी राज्य बनने का श्रेय राजस्थान को प्राप्त हुआ!

सन 2009 में पहली बार सहभागी देश को आमंत्रित करने का प्रचलन शुरू हुआ और सूरजकुंड में शामिल होने वाला पहला सहभागी देश मिस्र बना!

पूर्ण रूप से सूरजकुंड मेले में सहभागी देश का दर्जा थाईलैंड को प्राप्त हुआ! मिस्र आंशिक रूप से ही सृजकुण्ड मेले शामिल हो पाया था! लेकिन सन 2012 में थाईलैंड को पूर्ण रूप से सूरजकुंड मेले में सहभागी देश होने का दर्जा प्राप्त हुआ!

सूरजकुंड मेले का आयोजन किसके द्वारा किया जाता है!

  • सूरजकुंड मेले की जानकारी

विश्व के सबसे बड़े शिल्प मेले (सूरजकुंड मेले) का आयोजन प्रत्येक वर्ष हरियाणा प्रदेश के फरीदाबाद जिले में सूरजकुंड मेला प्राधिकरण और हरियाणा पर्यटन द्वारा और Union Ministries of Tourism, Textiles, Culture and External affairs के सहयोग से होता है!

वर्ष 2019 में संपन्न हुए सूरजकुंड मेले में सहभागी राज्य (theme state) होने का दर्जा महाराष्ट्र सरकार को प्राप्त हुआ और महाराष्ट्र सरकार के मुख़्यमंत्री फडणवीस स्वयं सूरजकुंड मेले का सुबह आरम्भ करने हरियाणा आये थे!

Surajkund Fair 2019 का समापन हरियाणा के शिक्षा मंत्री रामविलास शर्मा द्वारा किया गया था!

सूरजकुंड के तालाब का इतिहास

सूरजकुंड lake का निर्माण दिल्ली पर शासन करने वाले तोमर वंश के राजा, राजा अनंगपाल द्वितीय ने करवाया था!

अनंगपाल राजा का दूसरा नाम सूरजमल भी था! सूर्य भगवान तोमर वंश के इष्टदेव थे और उन्ही की स्मृति में ही राजा अनंगपाल ने Surajkund Lake का निर्माण करवाया था!

Surajkund lake को मयूर झील के नाम से भी जाना जाता था!

सूरजकुंड तालाब का नाम इसकी आकृति के कारण पड़ा है! सूरजकुंड तालाब की बनावट सूर्य के सामान है इसलिए इसका नाम सूरजकुंड पड़ गया!

इस तालाब के चारो और बैठने के लिए मंच भी बना हुआ है!

लगभग 10वी सदी के दौरान सूरजकुंड तालाब का निर्माण करवाया गया था तथा फ़िरोज़शाह तुग़लक़ ने 14वी सदी के दौरान इसके आस पास मरम्मत का काम करवाया था!

यह तालाब वैसे तो सूखा रहता है परन्तु बारिश के मौसम में यह लबालब भर जाता है!

सूरजकुंड मेलो और सहभागी राज्य और सहभागी राष्ट्र की सूचि (List of Theme state and Theme country of Surajkund Mela yearwise)

1) सूरजकुंड क्राफ्ट मेला : 1987 (No Theme state was there)
2) सूरजकुंड क्राफ्ट मेला : 1988 (No Theme state was there)

3) सूरजकुंड क्राफ्ट मेला : 1989
Theme State : Rajasthan

4) सूरजकुंड क्राफ्ट मेला : 1990
Theme State : West Bengal

5) सूरजकुंड क्राफ्ट मेला : 1991
Theme State : Kerala

6) सूरजकुंड क्राफ्ट मेला : 1992
Theme State : Chhattisgarh

7) सूरजकुंड क्राफ्ट मेला : 1993
Theme State : Orissa

8) सूरजकुंड क्राफ्ट मेला : 1994
Theme State : Karnataka

9) सूरजकुंड क्राफ्ट मेला : 1995
Theme State : Punjab

10) सूरजकुंड क्राफ्ट मेला : 1996
Theme State : Himachal Pradesh

11) सूरजकुंड क्राफ्ट मेला : 1997
Theme State : Gujarat

12) सूरजकुंड क्राफ्ट मेला –1998
Theme State : Northern Eastern States (Seven Sisters)

13) सूरजकुंड क्राफ्ट मेला : 1999
Theme State : Andhra Pradesh

14) सूरजकुंड क्राफ्ट मेला : 2000
Theme State : Jammu and Kashmir

15) सूरजकुंड क्राफ्ट मेला : 2001
Theme State : Goa

16) सूरजकुंड क्राफ्ट मेला : 2002
Theme State : Sikkim

17) सूरजकुंड क्राफ्ट मेला : 2003
Theme State : Uttaranchal

18) सूरजकुंड क्राफ्ट मेला : 2004
Theme State : Tamil Nadu

19) सूरजकुंड क्राफ्ट मेला : 2005
Theme State : Chhattisgarh

20) सूरजकुंड क्राफ्ट मेला : 2006
Theme State : Maharashtra

21) सूरजकुंड क्राफ्ट मेला : 2007
Theme State : Andhra Pradesh

22) सूरजकुंड क्राफ्ट मेला : 2008
Theme State : West Bengal

23) सूरजकुंड क्राफ्ट मेला : 2009
Theme State : Madhya Pradesh

24) सूरजकुंड क्राफ्ट मेला : 2010
Theme State : Rajasthan

25) सूरजकुंड क्राफ्ट मेला : 2011
Theme State : Andhra Pradesh

26) सूरजकुंड क्राफ्ट मेला : 2012
Theme State : Assam

27) सूरजकुंड क्राफ्ट मेला : 2013
Theme State : Karnataka

28) सूरजकुंड क्राफ्ट मेला : 2014
Theme State : GOA

29) सूरजकुंड क्राफ्ट मेला : 2015
Theme State : Chattisgarh

30) सूरजकुंड क्राफ्ट मेला : 2016
Theme State : Telangana

31) सूरजकुंड क्राफ्ट मेला : 2017
Theme State : Jharkhand

32) सूरजकुंड क्राफ्ट मेला : 2018
Theme State : Uttar Pradesh

33) सूरजकुंड क्राफ्ट मेला : 2019
Theme State : Maharashtra

34) सूरजकुंड क्राफ्ट मेला : 2020
Theme State : हिमाचल प्रदेश

Theme Country (सहभागी राष्ट्र) list year wise in सूरजकुंड क्राफ्ट मेला

सूरजकुंड मेले में सहभागी देशो की सूची

Egypt 2009 में 23वें सूरजकुंड मेले का पहला सहभागी राष्ट्र (partially theme country) बना! तभी से प्रत्येक वर्ष किसी राष्ट्र को सूरजकुंड मेले में सहभागी राष्ट्र के रूप में आमंत्रित करने का प्रचलन शुरू हुआ!

थाईलैंड पहली बार पूर्ण रूप से पहला सहभागी राष्ट्र (theme country) बन कर 2012 में 26वें सूरजकुंड मेले में शामिल हुआ!

ग्रुप ऑफ़ अफ्रीकन नेशंस 2013 में 27वें सूरजकुंड शिल्प मेले में सहभागी राष्ट्र के रूप में शामिल हुआ!

श्रीलंका 28वें सूरजकुंड शिल्प मेले में सन 2014 मे सहभागी राष्ट्र (theme country) के रूप में शामिल हुआ!

लेबनान 29वें सूरजकुंड शिल्प मेले में सन 2015 में सहभागी राष्ट्र (theme country) के रूप में शामिल हुआ!

चीन और जापान 30वें सूरजकुंड शिल्प मेले में सन 2016 में सहभागी राष्ट्र के रूप में शामिल हुआ!

कीर्गिस्तान 32वें सूरजकुंड शिल्प मेले में सन 2018 में सहभागी राष्ट्र के रूप में शामिल हुआ!

थाईलैंड को दूसरी बार 33वें सूरजकुंड शिल्प मेले में सहभागी राष्ट्र के रूप में शामिल होने का गौरव प्राप्त हुआ!

सूरजकुंड कैसे पंहुचा जाए (how to reach Surajkund Craft mela)

By Air

दिल्ली एयरपोर्ट सूरजकुंड मेले के सबसे नज़दीकी एयरपोर्ट हैं! इंदिरा गाँधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे से मात्र 35 मिनट और पालम हवाई अड्डे से मात्र 25 मिनट में सूरजकुंड मेले पंहुचा जा सकता हैं!

By Train

दिल्ली जंक्शन सूरजकुंड मेले के सबसे नजदकी रेलवे जंक्शन हैं और यहाँ से गुरुग्राम और फरीदाबाद से train से सूरजकुंड मेले पंहुचा जा सकता हैं! तुग़लकाबाद रेलवे स्टेशन सूरजकुंड मेले के पास स्थित रेलवे स्टेशन हैं!

By car

Car से या अपने किसी प्राइवेट वाहन से भी सूरजकुंड मेले पंहुचा जा सकता हैं! यहाँ पार्किंग भी पूरी व्यवस्था हैं!

By Bus

सूरजकुंड मेले तक जाने के लिए कुछ बसें चलाई जाती हैं जो सूरजकुंड मेले तक ले जाती हैं!
ये बसें दिल्ली, गुरुग्राम फरीदाबाद आदि जगह से मिल जाती हैं!

By Metro

बदरपुर मेट्रो स्टेशन सूरजकुंड मेले के सबसे नज़दीकी मेट्रो स्टेशन हैं! बदरपुर मेट्रो स्टेशन से सूरजकुंड मेले की दूरी 3.5 km हैं!

Read also :- Surajkund Mela 2020 in Hindi

for official website of haryana tourism click here

Share this

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *